Chat GPT: जानिए क्या है और कैसे काम करता है (2023)

इंटरनेट की दुनिया में चैट जीपीटी का नाम जोरो शोरो से लिया जा रहा है। चैट जीपीटी से संबंधित कुछ सही और कुछ गलत तथ्य लोगों के सामने आ रहे हैं। जैसे कि कि चैट जीपीटी लोगों के कामों को कितना आसान करने वाला है। साथ ही यह भी बात सामने आ रहा है की इंटरनेट से कमाई करने वाले लोगों के इनकम पर chat GPT का गहरा प्रभाव पड़ने वाला है।

अतः दोस्तों आज के इस लेख में हम यही जानने वाले हैं कि चैट जीपीटी क्या है? चैट जीपीटी की शुरुआत कब हुई और यह कैसे काम करता है? चैट जीपीटी का के आ जाने से लोगों के जीवन में कितने बदलाव आने वाले हैं या इंटरनेट की दुनिया को यह कितना प्रभावित करने वाला है यह सभी चीजें डिटेल में जानेंगे।

CHAT GPT क्या है?

चैट जीपीटी एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बॉट है जिसका फुल फॉर्म चैट जेनरेटिव प्रिंटेड ट्रांसफार्मर (Chat Generative Pre-Trained Transformer) है जो कि गूगल की तरह ही एक सर्च इंजन है। चैट जीपीटी पूर्णतः AI सिस्टम पर काम करता है। अर्थात आपके द्वारा पूछे गए प्रश्नों को यह तुरंत टाइप कर आपके सामने प्रस्तुत कर देगा।

इसके लिए आपको किसी दूसरे वेबसाइट या ब्लॉग का सहारा नहीं लेना पड़ेगा। आप अपने द्वारा पूछे गए प्रश्न के उत्तर को बार-बार रीजेनरेट कर के संतोषजनक उत्तर प्राप्त कर सकते हैं। चैट जीपीटी का आधिकारिक वेबसाइट chat.openai.com है जहां पर आप अपने जीमेल आईडी से साइन-अप करके लॉगिन कर सकते हैं। चैट जीपीटी को हाल ही में 30 नवंबर को लॉन्च किया गया जिस पर यूजर्स की संख्या काफी तेजी से बढ़ रहे हैं।

CHAT GPT की शुरुआत और इतिहास

चैट जीपीटी का विकास 2015 में शुरू हुआ था। इसकी शुरुआत करने में Sam Altman और Elon Musk ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। हालांकि, इसका प्रोजेक्ट शुरू होने के बाद यह काम लाभप्रद नहीं रहा था।

तब, माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने चैट जीपीटी में निवेश किया और अपना प्रोटोटाइप लॉन्च किया। इसके बाद 30 नवंबर को प्रोटोटाइप को लॉन्च करने के बाद, चैट जीपीटी के यूजर्स की संख्या में बड़ी वृद्धि देखने को मिली। अब इसे गूगल के एआई सिस्टम से टक्कर देने के रूप में देखा जा रहा है।

CHAT GPT के फायदे और नुकसान

चैट जीपीटी के उपयोग से लोगों के काम और भी आसान हो गए हैं। यह इंटरनेट से कमाई करने वाले लोगों के लिए भी एक अच्छा जरिया बन गया है। हालांकि, यह तकनीकी खतरों को भी साथ लाती है, जैसे कि गलत जानकारी फैलाने का खतरा।

इसके अलावा, चैट जीपीटी के बहुत सारे फायदे हैं जैसे कि सुविधाजनक उत्तर, समय की बचत, विभिन्न विषयों पर जानकारी, आत्म-सहायता आदि। यह बिना किसी मानव संवाददाता की आवश्यकता के उत्तर प्रदान कर सकता है।

निष्कर्ष

चैट जीपीटी ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की दुनिया में नया मोड़ लाया है। यह न केवल लोगों के काम को आसान बनाता है, बल्कि उनकी जिंदगी में भी कई सारे बदलाव ला सकता है। हालांकि, इसका उपयोग सावधानीपूर्वक और जिम्मेदारी से करना अत्यंत महत्वपूर्ण है ताकि इसके नुकसानों का सामना न करना पड़े।

चैट जीपीटी ने तकनीकी विकास की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है, जिससे हमारे आसपास की दुनिया और भी साहसिक हो सकती है। इसे सही तरीके से उपयोग करके हम सकारात्मक परिवर्तनों को प्रोत्साहित कर सकते हैं।

Leave a comment